4 Sep 2018

सफल होने का महामंत्र हैं, ये तरिके.....



हर काम में सफलता पाने की संभावना। 




Possibilityplus.in पर आपका स्वागत है। इस पोस्ट में मैं आपको एक ऐसा मंत्र दूँगा जी हाँ जो मैं बताने वाला हूँ वो किसी मंत्र से कम नहीं है और इस पोस्ट को पूरी तरह से पढ़ने के बाद आप हर हालात, परिस्तिथि, मुश्किल या बड़े से बड़ा काम को कर पाओगे।


 आप चाहें जो भी काम करना चाहते हो वो कर सकते हो पर कैसे, यह सवाल आपके मन में उठना स्वाभाविक है। इन सब बातों को जानने और काम में सफलता पाने के लिए ही यह पोस्ट बनाया गया है।  चलिए हम इसकी शुरूआत करते हुए मैं आपके सम्मुख एक उदाहरण पेश करता हूँ जो आपको यह बता देगा कि हाँ भाई कुछ तो दम है बात में, चलिए देखते हैं - 
कभी-कभी आपने यह देखा होगा कि जब आपको किसी निश्चित समय पर जागना होता है, जैसे 4 am, 5 am, 6 am या कोई भी अन्य समय हो । तो आपको उस समय पर जागने के लिए यह दिल से सोचना होता है या सोचते हो और आप सो जाते हैं और आप ठीक उसी समस पर जागते जिस समय पर आप जागना चाहते थे  ।

उम्मीद है कि आपके साथ ऐसा हुआ होगा अगर हुआ है तो यह कोई इत्तेफाक या संयोग नहीं है बल्कि यह आपके सोच का कमाल है। अगर आपके साथ ऐसा नहीं हुआ है तो आप ऐसा करने के लिए बस इतना ही काम करो कि सोते समय या जब आप नींद में जाने वाले होते तब यह सोचकर सो जाओ कि मुझे सुबह के 3, 4, 5,या 6 बजे में से किसी भी समय पर जागना ही और यह बहुत ही जरूरी है तब उसके बाद आप कुछ भी न सोचते हुए सो जाओ। अब जब सुबह को नींद खुले तो समय जरूर देखें। आप देखोगे कि आप बिल्कुल उसी समय पर जागे हो जिस समय पर जागना चाहते थे। आपकी इच्छा जितनी ही ज्यादा होगी आपके जागने का टाइमिंग उतना ही सटीक होगा फिर तब जाकर इस पोस्ट में आप अपने कमेन्ट अपने विचार लिखना । ऐसे एक दो उदाहरण नहीं है बल्कि इससे भरे पड़े हैं ।


 
किसी काम को सफल बनाने में  क्या - क्या बात मायने रखती है इन बातों के साथ - साथ उन बातों को भी ध्यान में रखना चाहिए जो हम सबको असफलता की राह पर ले जाती हैं। असफल होने के निम्नलिखित बड़े कारण इस प्रकार हैं  -

  1. किसी भी काम को पूरी तरह से समाप्त न करना ।
  2. काम को दिल से नहीं करना।
  3. बहुत ज्यादा बडे़ काम को पहले ही शुरू करना।
  4. अपने मन को सीमित और छोटा करना ।
  5. अपने आप पर भरोसा और अत्कामविश्वास की कमी का  होना।


ऊपर की बातें यह दर्शाती है कि हमारे असफल होने की मुख्य वजह है  हमारी अज्ञानता,  आत्मविश्वास और अपने मन को सीमित करना है।
भगवान् बुद्ध ने भी कहा है कि सत्य के रास्ते को तय करने में कोई दो ही गलियाँ कर सकता है - 
1.रास्ता बिच में ही छोड़ देना। 
2. रास्ता तय ही ना करना। 
यह तो कोई भी व्यक्ति हमें बता सकता है या यह सब आप लोगों कोई  पता भी होगा फिर इस पोस्ट में क्या दम है तो अब आगे जो भी पढ़ने वाले हो आप वो एक रामबाण की तरह है।   
किसी भी काम में सफलता पाने के लिए जबर्दस्त और लगभग सत प्रतिशत कारगर बातें कुछ इस प्रकार हैं -
  1. अपने मन को यह दिलासा दिलाओ कि हर काम में मैं सफल हो सकता हूँ क्योंकि हर काम में सफलता पाने की संभावनाओं की जड़ जरूर होती है और यह एक लगभग नहीं बल्कि 100% सत्य बात है जिसे कोई गलत साबित नहीं कर सकता है। उदाहरण के तौर पर अगर कोई डाक्टर किसी मरीज से यह बात कह दे कि " तुम कुछ ही दिनों के मेहमान हो।" तो उस मरीज के मरने की संभावना बहुत ही ज्यादा बढ़ जाती है फिर जाये डाक्टर झूठ ही क्यों न बोला हो। दरअसल मरीज डाक्टरों की बातों को सच मानते हैं इसीलिए डाक्टर या कोई  भी व्यक्ति मरीज से ऐसी नाजुक बातों को नहीं बताता है। आप ही सोचिए सिर्फ बातों को सच मानने पर वह बात कितना असर डालती है। दुनिया में हर बात, वाक्य का कुछ न कुछ प्रभाव जरूर होता है। जिस बात को हम जितना सही मानेंगे वह बात उतनी ही ज्यादा प्रभावशाली होती जायेगी  । हमेशा साकारात्मक  बातों को अपने अन्दर रखिए और उस पर अडिग रहो फिर रास्ता ही नहीं मंजिल भी आपका इंतजार करेगी। भगवान् महात्मा बुद्ध ने कहा है " जो व्यक्ति जैसा सोचता है और उसे करता है वह वैसा ही बन जाता है। " या  मुश्किल कुछ भी नहीं इस दुनिया में मगर लोग इरादे तोड़ देते हैं । अगर सच्चे दिल से चाहत है कुछ पाने की तो सितारे भी अपनी जगह छोड़ देते हैं।। 
  2. जिस किसी भी काम में सफलता पाना चाहते हैं तो उस काम को ऐसा महसूस करो कि वह काम बस होने ही वाला है, जैसे - अगर आप भगवान बजरंगबली ( या जो भी आपके पसंदीदा भगवान हों ) उनकी पूजा करते समय ऐसा महसूस करो कि जैसे कि बजरंगबली ( या जो भी आपके पसंदीदा देवी - देवता हों ) आपके समक्ष हों और तब जाकर आप अपनी बात उनके समक्ष रखिए। ऐसा करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हमें भगवान की एक स्पष्ट ( clear ) ईमेज बनानी चाहिए। इसके बाद आप जब ऐसा कर लोगे तो आप जो भी सवाल या उत्तर जानने की लालसा रखते हो आपको मिल जायेगा। 
  3. सबसे पहले किसी भी बडे़ काम में हाथ नहीं लगाना चाहिए क्योंकि बडा़ बहुत दिनों तक चलने वाला होता है। अगर हम कोई भी छोटा काम करेंगे तो हमें उसके प्रणाम जल्द से जल्द मिलेंगे और इससे हमारे आत्मविश्वास में बढ़ोत्तरी होगी जिससे हम बड़े कामो को भी कर सकते हैं।  
  4.  हर काम को पूरा करने की आदत बनानी  चहिए । 
  5. और अंत में एक बात कोई भी काम हो चाहे कितना ही बड़ा ही क्यूं ना हो मगर उस काम को करने या होने की संभावना जरूर होती हैं ।


उम्मीद है की यह पोस्ट पढ़ने के बाद आपको कुछ मोटीवेशन जरूर मिलेगी । ऐसी ही जानकारी पाने के लिए इस साइट को अभी सब्सक्राइब करें । धन्यवाद्। 

you may like this