सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

Bodmas rule ki kamiya



क्या इन सवालों के जवाब हैं हमारे पास ?



  • ऐसे सवालों 2 ÷ 2 ÷ 2 ÷ 2 को किस तरफ से और क्यों हल किया जाता है ? 
  • इस  2 ÷ 2 ÷ 2 ÷ 2 प्रश्न का उत्तर क्या है ? 
  • 36 ÷ 4 × 3 का मान क्या होगा ? 3 या 27 
  • क्या Bodmas नियम पुरी तरह से लागू होता है ? 





अगर देखा जाए तो बहुत से लोगों को इस तरह के सवालों को लेकर कन्फ्यूजन बना रहता है कि किधर से हल करें और किधर से नहीं।


Bate ki puri jaankari hindi me.





   आपको बता दे कि हम ऐसे 2 ÷ 2 ÷ 2 ÷ 2  किसी भी सवाल को किसी भी तरफ से हल कर सकते हैं। ऐसा करने पर मान में कोई अंतर नहीं होगा। पर कैसे ?  जानने के लिए पुरा आर्टिकल ध्यान से जरूर पढ़िएगा।



              बोडमास ( Bodmas ) एक ऐसा नियम है, जो ऐसे सवालों 36 ÷ 4 × 3 , 8 ÷ 4 ( 2 + 2), 
 2 ÷ 2 ÷ 2 ÷ 2 = ? को हल करने के लिए बनाया गया है पर क्या आप जानते हैं कि यह नियम पुरी तरह से सही है या काम करता है ? । यह बात इन उदाहरणों से निकलकर आ रही है । चलो मान भी लेते हैंं  कि Bodmas नियम गलत है तो कोई ऐसा कारण तो दो जिससे यह सिद्ध हो सके कि Bodmas नियम पुरी तरह से उपयोगी नहीं है । कारण स्पष्ट और सरल है पर इसे जानने से पहले बोडमास नियम क्या है हमेें एक नजर डाल लेना  चाहिए। बोडमास नियम इस प्रकार है -

  1. B (= Brackets ) सबसे पहले कोष्टकों का हल करना। 
  2. O ( = of ) फिर " का " हल करना। 
  3. D ( = Division ) फिर भाग का हल करना ।
  4. M ( = Multiplication ) गुणा का हल करना। 
  5. A  ( = Addition ) जोड़ / घटना हल करना। और
  6. S  ( = Subtration ) घटाने का हल करना। 


क्या हम सब ऐसा कोई कारण दे सकते हैं कि Bodmas नियम क्यों सही है। 
   इन प्रश्नों को देखिये - 
  •  कोष्टकों को हल करने के बाद भाग ही क्यों दिया जाता है ?
  • भाग के बाद ही गुणा क्यों किया जाता है ?
  • बोडमास नियम से सवाल सही हल हुआ है या नहीं इसके लिए कोई परिक्षण सूत्र है क्या ? 


बाकि सवाल हम उदाहरण में देखेंगे 👇
चलिए जानते हैं विस्तार से : - 

उदाहरण ( Examples ) 

प्रश्न : 1.     36 ÷ 4 × 3 का हल करिए। 

हल :         Bodmas नियम के अनुसार भाग पहले करेंगे। इसलिए 36 में 4 की भाग करने पर 9 आयेगा। 
36 ÷ 4 = 9 
अब 9 का गुणा 3 के साथ करेंगे तो 
9 × 3 = 27 
अतः 36 ÷ 4 × 3 = 27
उत्तर  = 27 



             सबसे बड़ा और आवश्यक सवाल यह है कि यह सवाल 36 ÷ 4 × 3 इस क्रम में कैसे, क्यों और कहांँ से आया है ? क्या Bodmas नियम इसकी जानकारी देता है ? इस तरह बोडमास नियम में परिक्षण करने का अभाव झलक रहा है। इस तरह यह एक बड़ी कमी है । फिलहाल चलिए हम इसका परिक्षण करते हैं कि यह क्यों, कैसे और कहांँ से आया है। 






परिक्षण ( Testing )   1.


इस सवाल 36 ÷ 4 × 3   में अगर 3 ना होता तो यह इस प्रकार 36 ÷ 4 होता, जिसे हम ऐसे 36 / 4 लिख सकते हैं। अब अगर ( 36 / 4 ) में हम 3 को 4 के साथ गुणा करके रखना चाहे तो हम 3 को कहाँ और कैसे लिखेंगे। इसको हम निचे दिए गए चित्रानुशार लिखेंगे - 

Chota aur bade bate ki full information.
चित्र संख्या :-  1. 



यहाँ ( चित्र संख्या : 1. ) में हम देख रहे हैं 36 में पहले 4 से भाग है फिर 3 का (  36 / 4 ) के पुरे मान में भाग है जिसका मतलब यह है कि 3 का 4 में गुणा है।
     इसी चीज को हम प्रत्यक्ष या डायरेक्ट रुप  हम में 36 ÷ 4 × 3 लिख देते हैं। चित्र से एक बात यह भी स्पष्ट हो रही है कि जब बड़ा बटा ( अपाॅन ) हो तो इसका मतलब यह है कि पुरे मान में भाग हो रही है निचे वाली संख्या से। यहां पर निचे वाली संख्या 3 है। एक बात यह भी स्पष्ट है कि हम 36 में 4 पहले भाग दे सकते हैं क्योंकि यह बड़े वाले बटे के अन्तर्गत है और इसके बाद फिर हम 3 से ( 36 / 4 = 12 ) में भाग दे सकते हैं।

अगर इस उदाहरण में हम 4 और 3 दोनों को एक-दूसरे के स्थान पर बदलकर ( 36 ÷ 3 × 4 ) लिखें तो मान क्या होगा। Bodmas नियम से हल करें तो इसका मान इस प्रकार होगा :-
36 ÷ 3 × 4 = 12 × 4 = 48


और अगर ऊपर बताए गए उदाहरण ( चित्र संख्या : 1. के अनुसार )  हल करें तो इसका मान भी 3 ही आयेगा जो इस प्रकार है :-
36 ÷ 3 × 4 = 36 ÷ 12 = 3

Chota aur bada bata kab, kaha use hota hai ki full information.
चित्र संख्या : 2.

इस तरह यहाँ चित्र संख्या : 2 वाले उदाहरण से हम यह देख रहे हैं कि इनके ( 3 और 4 ) के स्थान बदलने पर पर भी इनके ( 36 ÷ 4 × 3  और 36 ÷ 3 × 4 ) के मान में कोई परिवर्तन नहीं हो रहा है। अतः हम इसे इस तरह लिख सकते हैं -
36 ÷ 4 × 3 = 36 ÷ 3 × 4

अगर बटा एकसमान हो तो इसका मतलब यह है कि एक पहली संख्या या मान में दूसरे और दूसरे में तिसरे से भाग हो रही है। जैसे यहाँ 36 में 4 और 4 में 3 से भाग चित्र संख्या : 3. में दिखाया गया है।
Eksaman bate ka upyog ki jaankari.
चित्र संख्या : 3.




जब हम इस चित्र में दिखाए बटे को भाग के रूप में लिखेंगे तो यह इस तरह होगा :-
36 ÷ 4 ÷ 3 = 36 × 3 ÷ 4 = 9 × 3
36 ÷ 4 ÷ 3 = 27

चुँकि 36 में 4 की भाग है और 4 में 3 की भाग है तो स्पष्ट है कि 3 का विरोधी 4 है और 36 का सहायक है यानी 36 में 3 का गुणा होगा।



परिक्षण ( Testing )  2. 

गुणा को भाग में बदलकर ( × ➡️ ÷ )




   125 = 5 × 5 × 5   के रूप में लिख सकते हैं। अब ( 5 × 5 × 5 ) इनको भाग रूप में इस प्रकार लिखेंगे -
 5 × 5 × 5 = 5 ÷ 1 ÷ 5 ÷ 1 ÷ 5


यहाँ पर निम्न प्रश्न उठ रहे हैं - 
  • यह कैसे आया है ? 
  • भाग ( ÷ ) के चार चिन्ह कैसे आये जबकि गुणा ( × ) के दो ही चिन्ह थे ? 
इसको हम इस चित्र से समझ सकते हैं। 

Ek prakar ke sign ke use.
चित्र संख्या : 4.



स्पष्टीकरण : हम जाानते हैं कि गुणा का उल्टा भाग है। गुणा और भाग मेें निम्न संबंध होता है -

  • भाग = 1 / गुणा  या   गुणा = 1 / भाग

जैसे मान 6 × 3 में जब गुणा को भाग में बदलेंगे तो 3 का उल्टा 1 / 3 हो जायेगा। 1 / 3 को भाग रुपमे 1÷ 3 लिखेंगे। इस तरह  6 × 3 को 6 ÷ 1 ÷ 3
के रुप में लिख सकते हैं। बिल्कुल इसी तरह से
5 × 5 × 5 = 5 ÷ 1 ÷ 5 ÷1 ÷ 5   लिख देते हैं।
इस तरह भी 5 × 5 × 5 हमें मिल रहा है जो कि आना चाहिए। अतः यह विधि सही है। और बोडमास विधि गलत साबित होती हुई दीख रही है।
इस तरह दो गुणा के चिन्ह चार भाग के चिन्ह मे बदल जाते हैं।
 चलिए इस नियम के अनुसार 36 ÷ 4 × 3 का भी परिक्षण कर लेते हैं।
36 ÷ 4 × 3  में  3 के सामने के गुणा के चिन्ह को भाग में बदलेंगे तो 3, 1 / 3 या 1 ÷ 3 में परिवर्तित हो जायेगा। इस तरह 36 ÷ 4 × 3 = 36 ÷ 4 ÷ 1 ÷ 3
चित्र संख्या : 4. के अनुसार हो जायेगा।
36 ÷ 4 ÷ 1 ÷ 3   का हल इस तरह होगा -
36 × 1 ÷ 4 × 3 = 36 ÷ 12 = 3

यहाँ से भी हमे वही उत्तर मिला है जो पहले दो उदाहरणों से मिला था। 


भाग को गुणा में बदलकर ( ÷ ➡️ × )


36 ÷ 4 × 3 में भाग का चिन्ह ( ÷ ), 4 के आगे है और हम जाानते हैं कि गुणा और भाग एक - दूसरे के उल्टे हैं। इसलिए 36 × ( 1/ 4 × 3 ) हो जायेगा। 
तब, 36 / 12 = 3.
     चलिए ( 5 ÷ 1 ÷ 5 ÷ 1 ÷ 5  = 125 ) को हम गुणा रुपमे बदलकर देखते हैं कि इनका मान 125 आ रहा है कि नही अगर आयेगा तो यह विधि सही होगी जो हम अपना रहे हैं। सबसे पहले हमें यह देखना है कि हम इसे किस तरफ से हल करेंगे ? 
  1. दाँयीं तरफ से हल करेगें ? या 
  2. बाँयीं तरफ से हल करेंगे ? 

इसका जवाब है दोनों तरफ से हल कर सकते हैं। 

दाँयीं तरफ से हल करना 

 इस 5 ÷ 1 ÷ 5 ÷ 1 ÷ 5  = ? (? = 125 ) सवाल को दाँयीं तरफ से हल करने के लिए सबसे पहले हम 1 ÷ 5 को हल करेगें जो सबसे दाँयाँ वाला मान है। 
1 ÷ 5 = 1 / 5 हो जायेगा। 
अब  5 ÷ 1 ÷ 5 ÷ 1/5 हो गया। 
फिर सबसे दाँयाँ वाले ( 5 ÷ 1/ 5 ) को हल करेगें। तब, 5 ÷ 1/5 = 25 हो जायेगा। 
अब 5 ÷ 1 ÷ 25 हो गया। 
फिर सबसे दाँयें वाले ( 1 ÷ 25 ) मान को हल करने पर, 
1 ÷ 25 = 1/25
अब 5 ÷ 1/25 को हल करने पर, 
5 ÷ 1/25 = 5 × 25 = 125

हम देख रहे हैं कि भाग करने पर 125 आ रहा हैं जो कि सही है। चलिए अब बाँयीं तरफ से हल करके भी देख लेते हैं कि इस तरह से क्या आता है। 


बाँयीं तरफ से हल करना 

  5 ÷ 1 ÷ 5 ÷ 1 ÷ 5 =  ? 
   इसमें सबसे बाँयीं भाग 5 ÷ 1 है। अतः 5 ÷ 1
  को हल करने पर,
5 ÷ 1 = 5 / 1
अब 5 / 1 ÷ 5 ÷ 1 ÷ 5 हो गया है। (यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है कि बीच वाले 5 का 1 में भाग है।) अतः 5 से 1 मे ही भाग देनी होगी। तब ,
5 / 1 / 5 = 25 हो जायेगा। ( चित्र संख्या : 3. को देखें )
चुंँकि दाहिने वाले 1 से 5 में भाग थी जिसका गुणा पहले या बाँये वाले 5 में होने के कारण 25 हो गया है। अतः 25 में ही 1 की भाग होगी।
तब 25 ÷ 1 = 25 / 1
अब 25 / 1 ÷ 5 बचा है। इसे हल करने पर,
25 / 1  / 5 = ( 25 × 5 ) / 1 = 125.

इस तरह हम यह देख रहे हैं कि चाहे दाँयीं तरफ़ से भाग करो या बाँयीं तरफ से कोई फर्क नहीं पड़ता है।





हर तरफ से हल करने पर उत्तर सही कैसे आता है ? 

  यह सवाल बहुत आवश्यक और जरूरी भी है। इसलिए इसको भी शामिल किया गया है। 

उदाहरण 1. 1+ 2 + 3 + 4 को हम किधर से भी हल करें पर उत्तर में कोई फर्क नहीं पड़ता है पता है क्यों ? क्योंकि इस सवाल में एक ही प्रकार के के चिन्ह ( जोड़ के चिन्ह ) हैं। 
मान लिया हम 1+ 2 + 3 + 4  इसे दाहिने तरफ से हल करते हैं तब सबसे दाहिनी तरफ 3 और 4 हैं तो ( 3 + 4 ) को जोड़ने पर , 
3 + 4 = 7 होगा। अब 1+ 2 + 7  के रूप में सवाल बदलकर हो गया है। अब फिर सबसे दाहिनी तरफ से हल करने पर यानी 2 + 7 को जोड़ने पर, 
2 + 7 = 9 हो गया अब 1 + 9 बचा है जिसको जोड़ने पर, 
1 + 9 = 10 आ रहा है।

इसी तरह हम बाँयीं तरफ से हल करेंगे या जोड़गे तो भी उत्तर 10 ही आयेगा। 
मान लिया 2 × 3 × 4 को हल करना है। पहले 2 × 3 का गुणनफल लें, 2 × 4 का गुणनफल ले या 3 × 4 का गुणनफल लें। कोई फर्क नहीं पड़ता है उत्तर में। उत्तर हमेशा 24 ही आयेगा। इस तरह हम जो भी गणना करें सबसे पहले उसे किसी भी एक प्रकार के चिन्ह में बदल लेना चाहिए। और तब हम चाहे जिधर से भी हल करें कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। 


  आशा करता हूँ आपका सारा कन्फ्यूजन या डाउट क्लियर हो गया होगा। अगर अब कोई सवाल या राय है तो कमेंट करें । धन्यवाद!
By : Possibilityplus.in


टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

दिशा पता करने का बेस्ट तरीका..

दिशा कैसे पता करते हैं ? 


दुनियाँ के किसी भी कोने में जाओ आप हर जगह पर दिशा पता कर सकते हैं।  हमने यह आर्टिकल उपयोग करने के लिए बनाया है ऊम्मीद है आपके लिए उपयोगी साबित होगा। इस आर्टिकल को अन्त तक जरूर पढिएगा क्योंकि हमने इसमें लगभग सभी संभव तरिके बताएँ हैं जो आपको हर परिस्थितियों में दिशा पता करने के लिए काफी हो सकता है।






   दिशा का पता करने से पहले हम दिशा के बारे कुछ अहम / आवश्यक जानकारी देने जा रहें हैं ताकि दिशा पता करना और आसान हो जाये | इसमे सबसे पहले जानतें हैं दिशा क्या है और इसका महत्व क्या है |



   दिशा ( Direction  ) 


एक ऐसा मैप या साधन जो हमें उत्तर - दक्षिण , पूरब - पश्चिम , उपर - निचे और आगे - पीछे  इन सभी को प्रदर्शित करे दिशा कहलाता है | दिशा मुख्यतः चार प्रकार की हैं ( अगर उपर - निचे को छोड़दे तो ) लेकिन इनको अलग - अलग भागो  मैं बाँटे तो ये दश प्रकार की हो जाती  है | अगर हमें इन चारों के बीच की दिशाओं को बताना है तो चित्रानुसार बतायेंगे।




जैसे हमें पश्चिम और उत्तर केे बीच की दिशा को बताना है तो हम उत्तर-पश्चिम कहेेंगे। इसी तरह से बाकि सभी दिशाओं के बारे में हम कहेेंगे।




भिन्न का गुणा , भाग , जोड़ और घटना हल करना

भिन्न (Fraction ) 


ऊपर चित्र में एक वृत्त को चार बराबर भागों में बाँटा गया है । अगर हम कहें कि इसमें से एक भाग किसी को दे दिया जाये तो कितना भाग बचेगा तो इसका जवाब है 3 / 4 भाग जिसे शाब्दिक या बोलन वाली भाषा में तीन चौथाई  भाग कहेगें । इसी प्रकार 1 / 3 को एक तिहाई कहेंगे।  चलिए अब जानते हैं इनको जोड़ने, घटाने, गुणा और भाग  करने के तरीका के बारे में । 




  भिन्नों का जोड़ , घटाना , गुणा और भाग करने  का तरिका. 

भिन्नों का जोड़ , घटाना , गुणा और भाग; पोस्ट में आपको सब सीखने को मिलेगा। अगर आपके पास कोई सवाल है भिन्नों को हल करने या किसी भी तरह की भिन्न हो तो हमें निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज दें ।

भिन्न क्या है ? What is the Fraction ? 




 भिन्न एक आंशिक भाग होती है जो दो भागों से बनती है -
अंश हर
 जैसे -     1 / 3 , जिसमें 1 अंश और 3 हर है । a / b में " a  " अंश और " b  " हर है।

आज के दौर में बहुत - से लोग ऐसे हैं जो पढ़ - लिखकर भी भिन्न हल करना नहीं जानते हैं । इस कमी का आभास उन्हें तब होता है जब वो कोई काम करने लगते हैं और काम या कार्य में उनको कोई सटीक ( ठीक - …

मैट्रिक और इण्टरमीडिएट किस कक्षा को कहा जाता है ?

ज हम जानेंगे कुछ ऐसी जानकारी जो बहुत से छात्र - छात्राएँ पढ़ - लिखकर  भी नहीं जान पाते हैं . इसका सीधा कारण है ध्यान से पढा़ई न करना . लेकिन इन्टरनेट ऐसा साधन है जहाँ पर आपको हर जानकारी मिलती है चाहे कैसी भी जानकारी हो वो भी बिल्कुल आसानी और सुलभ तरिके से , इन बातो को यहीं पर विराम देते हुए हम मूल बात पे आते हैं। विज्ञान से संबंधित प्रश्नों को जानने के लिए पढ़ते रहिये। 

इसे भी पढ़ें >>
4 - 4  / 2 =  क्या होगा ?    cos0° = 1 क्यों होता है ? 

        मैट्रीक किसे या किस कक्षा को कहते हैं ?ईन्टर कौन - सी कक्षा को कहते हैं ? 


  मैट्रिक किस कक्षा को कहते हैं ? 
       मैट्रिक का नाम सुन बहुत से लोग यह सोचते हैं कि ये कौन - सी कक्षा है।  आपको बता दें कि मैट्रिक कोई और कक्षा नही है बल्कि  कक्षा - 10 या दसवीं पास को कहते हैं  जिसे हाई स्कूल भी कहा जाता है।  
इसे अंग्रेजी में 10 th ( टेंथ )  भी कहते हैं। मैट्रिक अंग्रेजी शब्द है जिसका मतलब हाईस्कूल पास /दसवीं पास होता है। इससे यह पता चलता है कि मैट्रिक कोई कक्षा नहीं बल्कि कक्षा 10 या दसवीं उत्तीर्ण को सम्बोधन करने वाला शब्द है। 

अगर हाई स्कू…
Disclaimer | Privacy Policy | About | Contact | Sitemap | Back To Top ↑
© 2017-2020. Possibilityplus