सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

रासुका, W.H.O, W.W. W, etc full form

रासुका ( N.S.A ) 

 रासुुका ऐसा कानून है जिसके लगने पर किसी भी संदिग्ध को पकड़ा जा सकता है । ये शब्द सुनने में उर्दू प्रतीत होता है पर यह पुर्ण शब्द नहीं है बल्कि हिन्दी के तीन शब्दों के पहले अक्षर हैं।अगर अग्रेंजी यानी इंग्लिश में कहें तो इन्हें हम N.S.A  कहेंगे।  राष्ट्रीय सुरक्षा (अधिनियम-1980) को मजबूत करने के लिए इस नियम को बनाया गया। क्योंकि इससे किसी भी संदिग्ध को हिरासत में लिया जा सकता है और किसी बड़ी साजिश पर अंकुश लगाया जा सकता है।


 

ये कानून कब और क्यूँ बना 

देश में कई प्रकार के कानून बनाए गए हैं जो अलग अलग परिस्थितियों में लागू होते हैं। रासुका यानी राष्ट्रीय सुरक्षा कानून। 23 सितंबर, 1980 को इंदिरा गांधी की सरकार के दौरान इसे बनाया गया था। यह कानून देश की सुरक्षा को बनाये रखने के लिए और सरकार को अधिक शक्ति देने के लिए है। दरअसल यह कानून केंद्र और राज्य सरकार को किसी भी संदिग्ध व्यक्ति को हिरासत में लेने की शक्ति देता है। 

रासुका ( N.S.A ) का पुरा अर्थ क्या है 

   रासुका का पुरा अर्थ - 

रा = राष्ट्रीय 
सु = सुरक्षा 
का = कानून 

 चलिए अब जानते हैं N.S.A यानी इसी के अग्रेंजी रुप का पुरा रुप यानी फुल फार्म के बारे में।

N.S.A  full form

N = National
S = Security
A = Act

W.H.O क्या है ?

W.H.O पुरे विश्व के स्वास्थ्य की देखरेख करनेवाली सबसे बड़ा संगठन है जिसे दुनियाँ के अधिकांश देशों ने मिलकर.. इसको स्थापित किया है। इसकी स्थापना 7 अप्रैल 1948 को हुई थीं ।प्रत्येक 7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य संगठन मनाया जाता हैं । इसका मुख्यालय स्विट्जरलैंड के जेनेवा शहर में स्थित हैं । इस संगठन में अभीतक कुल 194 सदस्य देश हैं । इस संस्था में इथियोपिया के डॉक्टर टैड्रोस ऐडरेनॉम ग़ैबरेयेसस विश्व स्वास्थ्य संगठन के नए महानिदेशक निर्वाचित हुए हैं।

W.H.O का पुरा नाम

W = World ( विश्व ) 
H = Helth ( स्व्वास्थ्य ) 
O = Organisation ( संगठन ) 

W.W.W का इतिहास 

 इसका इतिहास ज्यादा पुराना नहीं है। इंटरनेट सेवा सरल बनाने के लिए टिम बेर्नर ली ने सन 1989 में ब्राउजरो, पन्नों और लिंक का उपयोग कर W.W.W यानी वर्ल्ड वाइड वेब को अविस्कृत किया। इसके ठीक नौ साल बाद यानी 1998 में गूगल ( google) के आने से इन्टरनेट के क्षेत्र में विस्तार होना तेज हो गया।

W.W.W.  ka full form

W = World
W = Wide
W = Web

इसे हिंदी में विश्वव्यापी वेब कहते हैं। 


ISRO ka full form


इसरो का पुरा  क्या है ?
इसका पुरा नाम ( हिन्दी में ) 
" भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन " है।


ISRO fullform in english 
I  = Indian
S = Space
R = Research 
O = Organisation 



 ये जानकारी आपको कैसे लगी हमें जरुर बतायें

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भिन्न का गुणा , भाग , जोड़ और घटना हल करना

ऊपर चित्र में एक वृत्त को तीन बराबर भागों में बाँटा गया है । अगर हम कहें कि इसमें से एक भाग किसी को दे दिया जाये तो कितना भाग बचेगा तो इसका जवाब है,  2/3  भाग जिसे शाब्दिक याा साधारण भाषा में  दो तिहाई   भाग कहेगें । इसी प्रकार ( एक बटा तीन ) 1 / 3 को एक तिहाई  कहेंगे।  चलिए अब जानते हैं इनको जोड़ने, घटाने, गुणा और भाग   करने के तरीीकों के बारे में पुरी जानकारी।                                  भिन्नों का जोड़ , घटाना , गुणा और भाग; इस पोस्ट में आपको सब सीखने को मिलेगा। अगर आपके पास कोई सवाल है भिन्नों को हल करने या किसी भी तरह की भिन्न हो तो हमें निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज दें । भिन्न क्या है ? What is the Fraction ?     भिन्न एक आंशिक भाग होती है जो दो भागों से बनती है - अंश  हर  जैसे -     1 / 3 , जिसमें 1 अंश और 3 हर है । a / b में " a  " अंश और " b  " हर है। आज के दौर में बहुत - से लोग ऐसे हैं जो पढ़ - लिखकर भी भिन्न हल करना नहीं जानते हैं । इस कमी का आभास उन्हें तब होता है जब वो कोई काम करने लगते हैं और काम या कार्य मे

दिशा पता करने का बेस्ट तरीका..

दिशा कैसे पता करते हैं ?      दु नियाँ के किसी भी कोने में जाओ आप हर जगह पर दिशा पता कर सकते हैं।  हमने यह आर्टिकल उपयोग करने के लिए बनाया है ऊम्मीद है आपके लिए उपयोगी साबित होगा। इस आर्टिकल को अन्त तक जरूर पढिएगा क्योंकि हमने इसमें लगभग सभी संभव तरिके बताएँ हैं जो आपको हर परिस्थितियों में दिशा पता करने के लिए काफी हो सकता है। दिशा पता करने के तरीके। Ways to find direction.    दिशा का पता करने से पहले हम दिशा के बारे कुछ अहम / आवश्यक जानकारी देने जा रहें हैं ताकि दिशा पता करना और आसान हो जाये | इसमे सबसे पहले जानतें हैं दिशा क्या है और इसका महत्व क्या है |    दिशा ( Direction  )  Ways to find direction. एक ऐसा मैप या साधन जो हमें उत्तर - दक्षिण , पूरब - पश्चिम , उपर - निचे और आगे - पीछे  इन सभी को प्रदर्शित करे दिशा कहलाता है | दिशा मुख्यतः चार प्रकार की हैं ( अगर उपर - निचे को छोड़दे तो ) लेकिन इनको अलग - अलग भागो  मैं बाँटे तो ये दश प्रकार की हो जाती  है | अगर हमें इन चारों के बीच की दिशाओं को बताना है तो चित्रानुसार बतायेंगे। Display o

प्रतिशत कैसे निकालते हैं ?

     प्रतिशत ( Percent )  प्रतिशत को पूरी तरह समझने के लिए प्रतिशत का मतलब / शाब्दिक या शब्द का अर्थ जानना बहुत जरूरी है । प्रतिशत में कुछ ऐसी बातें जिन्हें हमें जानना जरूरी होता जैसे -   इनमें से कौन - कौन सही हैं  -   2 / 5 = ( 2 / 5 )  × 100 = 40 %     2 / 5 = ( 2 / 5 ) × 100 % = 40 %   2 / 5 = 40 / 100 = 40 %     इन तीनों में पहला गलत है और बाकी दोनों सही हैं। क्योंकि पहली वाले हल में हमें यह स्पष्ट दिख रहा है कि अगर हम 100 में भाग करें तो 2 × 20 = 40 तो मिलेगा पर हर के स्थान पर हमें 100 मिल ही नहीं रहा है तो इसे हम प्रतिशत के रूप में कैसे लिख सकते हैं। अतः यह गलत है। रही बात बाकी दो तरिकों की तो इन दोनों में ही हमें हर के स्थान पर 100 मिल रहा है। दूसरे वाले विकल्प में 1 / 100 = % लिखा गया है।  ( प्रतिशत = प्रति + शत  ) का संधि -  विक्षेद करने पर दो अलग -  अलग शब्द मिलते हैं जिसमें शत का शाब्दिक अर्थ सौ ( 100) होता है या प्रतिशत  गणित में किसी अनुपात या भिन्न  को व्यक्त करने का एक अलग तरीका है। प्रतिशत का अर्थ है प्रति सौ या प्रति सैकड़ा (  % = 1 / 10
Disclaimer | Privacy Policy | About | Contact | Sitemap | Back To Top ↑
© 2017-2020. Possibilityplus