सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

सरदर्द को सेकेंड में दूर करें कहीं और कभी भी

 
आजकल सरदर्द होना आम बात जैसा हो गया है क्योंकि सरदर्द होने के लिए एक कारण नहीं बल्कि अनेकों प्रकार के कारण हैं। जैसे - मानसिक तनाव, लगातार किसी भी वस्तु को देखना, ज्यादा सोचना आदि मुख्य कारणों के अंदर आता है। और इनको दूर या कम करने के लिए तमाम प्रकार की दवाईयाँ भी मिलती हैं। 


head ache



इनका इस्तेमाल करना सही है पर छोटे-छोटे सरदर्द होने पर अगर हम दवाईयाँ लेने लगते हैं तो हम बड़ी बिमारियों को दावत देने का काम कर रहे हैं। कहने का मतलब यह है कि हमें हर छोटे- मोटे सरदर्द के लिए दवा लेना सही नहीं होता है। वैसे सरदर्द दूर करने के बहुत सारे उपाय हैं जो अलग अलग कारणों से उत्पन्न होता है। इसी वजह से इनके दूर करने के उपाय या तरीके भी अलग होते हैं। दवा पर आश्रित होने से निम्नलिखित प्रकार के आवश्यक प्रश्न उठते है -
  1.  क्या हम दवाईयाओं पर निर्भर रह कर सही कर रहे हैं ?
  2. क्या हर समय हमारे पास दवाईयाँ रह सकती है?
  3. क्या हमारे पास हर समय पैसे होगें दवा के लिए?
  4. क्या हर छोटे- मोटे सरदर्द के लिए दवा लेना सही है? 
  5. क्या दवा के साइड इफेक्ट नहीं होते हैं ? 




 इन सभी प्रश्नों से यह निष्कर्ष निकलता है कि सरदर्द को दूर करने के लिए कोई ऐसा उपाय चाहिए जो लगभग हर परिस्थितियों में काम आए और इसके लिए कोई पैसा भी ना लगे और ना ही इससे कोई साइड इफेक्ट पड़े। तो इसके लिए आगे पढ़ते हैं।
   

 सरदर्द कम करें सांस के माध्यम से 

    सरदर्द को दूर या कम करने का सबसे अच्छा और सरल तरिका यह है कि अगर हमें सरदर्द होता है तो हमें निम्नलिखित उपाय करना चाहिए - 
  1. सबसे पहले हमें अपनी आंखों को बन्द करना है। 
  2. इसके बाद कुछ ना सोचते हुए अपनी सांसों को ऊपर की ओर खींचना है। 
  3. फिर छोड़ना है। यही क्रिया हमे कई बार करना है। 



यहाँ पर ऊपर की तरफ से मतलब यह है कि अपनी दोनों आखों के बीच वाले बिन्दु तक सांसो की हवा यानी आक्सीजन को पहुंचना
 है।  यही क्रिया हमें बार बार करना चाहिए जिससे हमारे मस्तिष्क में आक्ससीजन की पुर्ती  हो जाती है और हमें आराम मिलता है। यह 1 - 2 सेकेंड में ही असर दिखाने लगता है। 
इसके अलावा भी हम पानी भी पीकर और रेस्ट करके भी अपने मस्तिष्क या सरदर्द को कम कर सकते हैं। लेकिन यह भी उपाय करने के लिए हमें पानी की आवश्यकता होती है जो हर जगह और हर समय उपलब्ध नहीं हो सकता है। अतः स्पष्ट है कि सासों वाली विधि सबसे सरल और सहज है क्योंकि हर समय और हर जगह इसे किया जा सकता है। 


सरदर्द को करने अन्य तरिके 

   सरदर्द दूर करने के बहुत सारे तरिके हैं लेकिन हम यहाँ पर उन तरिकों को ही जानेंगे जो बिना दवा के उपयोग में आते हैं और शरीर के लिए सही हैं। जिसमे पहला तरीका यह है दौड़ना, जी हाँ जब भी हम दौड़ते हैं तो अगर हमें सरदर्द है भी तो कम हो जाता है क्योंकि हमारे मस्तिष्क तक आक्सीजन पर्याप्त मात्रा में मिल जाती है। दरअसल दौड़ने के बाद हमारी सासें बहुत तेज हो जाती है जिससे कुछ मात्रा में आक्सीजन मस्तिष्क तक पहुंचने लगती है। अतः सरदर्द पता ही नहीं चलता है। 
  ये उपाय भी सांस वाला ही है। कोई मेहनत वाला काम करने पर भी हमारी धड़कन तेज होती है जिससे आक्सीजन मिलती है मस्तिष्क को जैसे दौड़ने से हमारी सांसे तेज होती है बिल्कुल उसी तरह से मेहनत का काम करने पर भी होता है। 



दुख वाले सरदर्द दूर करे ऐसे 

  अगर हमें किसी दुख की वजह से सरदर्द है तो इसे दूर करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि हमें अपने दुख की भावना को शेयर कर देना चाहिए जिससे हमारा मन हल्का होने लगता है और सरदर्द कम होना जाहिर सी बात है। तो ये दो तरिके ऐसे हैं जो बेहद कारगर और असरदार जिसे हम आसानी से कर सकते हैं। 


 सांस के माध्यम से सरदर्द को दूर करने में आने वाली सावधानियाँ

  वैसे हर विधि की कुछ न कुछ कमियां जरुर होती हैं। ठीक इसी प्रकार सांस वाली विधि में भी कुछ कमियाँ हैं जो निम्नलिखित है - 
  1. इस विधि को वो लोग ही कर सकते हैं जो किसी गंभीर बिमारियों से प्रभावित न हों। 
  2. इसको करने के लिए नाक का साफ होना आवश्यक है। 
  3. इसको साफ सूथरे वातावरण में ही करना चाहिए। जैसे - जहां ज्यादा धूल और कण हों वहाँ पर इसे नहीं करना चाहिए नहीं तो नाक के माध्यम से धूल कण फेफड़ों में ज्यादा मात्रा में चले जाते हैं जो सेहत के लिए हानिकारक होता है। 
  4. इसे नहाते समय बिल्कुल नहीं करना चाहिए क्योंकि नाक माध्यम से पानी मस्तिष्क में चला जाता है जिससे बहुत खतरनाक स्थिति बन सकती है। 
तो इस तरह से हमें इसकी सावधानी पर ध्यान देना है कि कब, कहाँ और कैस करना है इस सांस वाली क्रिया को। 
  तो दूर करें अपने और अपनो के सरदर्द और जीन्दगी को आसान बनाये तो इस पोस्ट में इतना ही। आपको यह जानकारी कैसी लगी हमें जरूर बताएँ हमें बहुत खुशी होगी। 
 by : Possibilityplus.in 


   

टिप्पणियां

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

भिन्न का गुणा , भाग , जोड़ और घटना हल करना

ऊपर चित्र में एक वृत्त को तीन बराबर भागों में बाँटा गया है । अगर हम कहें कि इसमें से एक भाग किसी को दे दिया जाये तो कितना भाग बचेगा तो इसका जवाब है,  2/3  भाग जिसे शाब्दिक याा साधारण भाषा में  दो तिहाई   भाग कहेगें । इसी प्रकार ( एक बटा तीन ) 1 / 3 को एक तिहाई  कहेंगे।  चलिए अब जानते हैं इनको जोड़ने, घटाने, गुणा और भाग   करने के तरीीकों के बारे में पुरी जानकारी।                                  भिन्नों का जोड़ , घटाना , गुणा और भाग; इस पोस्ट में आपको सब सीखने को मिलेगा। अगर आपके पास कोई सवाल है भिन्नों को हल करने या किसी भी तरह की भिन्न हो तो हमें निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में लिखकर भेज दें । भिन्न क्या है ? What is the Fraction ?     भिन्न एक आंशिक भाग होती है जो दो भागों से बनती है - अंश  हर  जैसे -     1 / 3 , जिसमें 1 अंश और 3 हर है । a / b में " a  " अंश और " b  " हर है। आज के दौर में बहुत - से लोग ऐसे हैं जो पढ़ - लिखकर भी भिन्न हल करना नहीं जानते हैं । इस कमी का आभास उन्हें तब होता है जब वो कोई काम करने लगते हैं और काम या कार्य मे

दिशा पता करने का बेस्ट तरीका..

दिशा कैसे पता करते हैं ?      दु नियाँ के किसी भी कोने में जाओ आप हर जगह पर दिशा पता कर सकते हैं।  हमने यह आर्टिकल उपयोग करने के लिए बनाया है ऊम्मीद है आपके लिए उपयोगी साबित होगा। इस आर्टिकल को अन्त तक जरूर पढिएगा क्योंकि हमने इसमें लगभग सभी संभव तरिके बताएँ हैं जो आपको हर परिस्थितियों में दिशा पता करने के लिए काफी हो सकता है। दिशा पता करने के तरीके। Ways to find direction.    दिशा का पता करने से पहले हम दिशा के बारे कुछ अहम / आवश्यक जानकारी देने जा रहें हैं ताकि दिशा पता करना और आसान हो जाये | इसमे सबसे पहले जानतें हैं दिशा क्या है और इसका महत्व क्या है |    दिशा ( Direction  )  Ways to find direction. एक ऐसा मैप या साधन जो हमें उत्तर - दक्षिण , पूरब - पश्चिम , उपर - निचे और आगे - पीछे  इन सभी को प्रदर्शित करे दिशा कहलाता है | दिशा मुख्यतः चार प्रकार की हैं ( अगर उपर - निचे को छोड़दे तो ) लेकिन इनको अलग - अलग भागो  मैं बाँटे तो ये दश प्रकार की हो जाती  है | अगर हमें इन चारों के बीच की दिशाओं को बताना है तो चित्रानुसार बतायेंगे। Display o

प्रतिशत कैसे निकालते हैं ?

     प्रतिशत ( Percent )  प्रतिशत को पूरी तरह समझने के लिए प्रतिशत का मतलब / शाब्दिक या शब्द का अर्थ जानना बहुत जरूरी है । प्रतिशत में कुछ ऐसी बातें जिन्हें हमें जानना जरूरी होता जैसे -   इनमें से कौन - कौन सही हैं  -   2 / 5 = ( 2 / 5 )  × 100 = 40 %     2 / 5 = ( 2 / 5 ) × 100 % = 40 %   2 / 5 = 40 / 100 = 40 %     इन तीनों में पहला गलत है और बाकी दोनों सही हैं। क्योंकि पहली वाले हल में हमें यह स्पष्ट दिख रहा है कि अगर हम 100 में भाग करें तो 2 × 20 = 40 तो मिलेगा पर हर के स्थान पर हमें 100 मिल ही नहीं रहा है तो इसे हम प्रतिशत के रूप में कैसे लिख सकते हैं। अतः यह गलत है। रही बात बाकी दो तरिकों की तो इन दोनों में ही हमें हर के स्थान पर 100 मिल रहा है। दूसरे वाले विकल्प में 1 / 100 = % लिखा गया है।  ( प्रतिशत = प्रति + शत  ) का संधि -  विक्षेद करने पर दो अलग -  अलग शब्द मिलते हैं जिसमें शत का शाब्दिक अर्थ सौ ( 100) होता है या प्रतिशत  गणित में किसी अनुपात या भिन्न  को व्यक्त करने का एक अलग तरीका है। प्रतिशत का अर्थ है प्रति सौ या प्रति सैकड़ा (  % = 1 / 10
Disclaimer | Privacy Policy | About | Contact | Sitemap | Back To Top ↑
© 2017-2020. Possibilityplus