सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

March 24, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

अवकलन मूल नियमों से

मूल नियमों से अवकलन ( Differentiation by First Principle )  स्वागत है आप सभी का इस पोस्ट में इसमें हम जानेंगे कि  प्रथम सिद्धांत से अवकलन कैसे करते हैं और इसका क्या महत्व है। मूल नियम यानी प्रथम सिद्धांत से अवकलन करने का मतलब है कि केवल इस विधि में परिभाषा का उपयोग किया जाता है । मतलब इसमें योगफल, गुणनफल फलन के फलन आदि अवकलन वाले नियम नहीं लगाये जाते हैं और नाहीं किसी फलन के अवकल -  गुणांक को ज्ञात माना जाता है। इस विधि से अवकलन करना थोड़ा लंबा और मुश्किल होता है परंतु ज्ञान की दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है। क्योंकि इसके ज्ञान से अवकलन की बेसिक जानकारी मिलती है  । 



सबसे पहले हम जानेंगे अवकलन की  परिभाषा बारे में शुरु करते हैं ये पोस्ट । 
यहाँ से आगे बढ़ने से पहले हमें अवकलन के प्रथम यानी मूल सिद्धांत की परिभाषा जान लेना बहुत आवश्यक है। 
🤔  जियो फ्री सदस्यता रिचार्ज कैसे करें ?


अवकलन की परिभाषा ( Definition of Differentiation ) 
यदि  x कोई फलन ∫(x) और x + δx का वही फलन ∫(x + δx ) हो तो lim δx➝0 ∫(x + δx ) - ∫(x) /δx का सीमांत मान ( limiting value ), x के सापेक्ष ∫(x) का अवकल - गुणांक या अव…
Disclaimer | Privacy Policy | About | Contact | Sitemap | Back To Top ↑
© 2017-2020. Possibilityplus