सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

कोई भी मोबाइल कितने मिनटों में फुल चार्ज होगी, सेकेंडो में पता करें

बैटरी फुल चार्ज कितने समय में होगी         हमारे मन में यह सवाल जरूर आया होगा कि मेरे टार्च, मोबाइल, इंवर्टर इत्यादि की बैटरी कितने मिनटों या घंटों में फुल चार्ज हो जायेगी। अगर आप अपने किसी भी मोबाइल की बैटरी की यह जानकारी पता करना चाहते हो कि कितने मिनटों में फुल चार्ज हो जायेगी तो आप विल्कुल सही आर्टिकल में आये हैं। इस आर्टिकल के माध्यम से हम किसी भी मोबाइल ही नहीं बल्कि इंवर्टर बैटरी या कोई भी बैटरी कितने मिनटों में पुरी तरह से चार्ज हो जायेगी इसकी जानकारी हम लेगें।  नोट-    इसमे दी गई जानकारी सूत्र के अनुसार है जो भी मान आया है कि बैटरी इतने घंटों या मिनटों में फुल चार्ज हो जायेगी जो कि बैटरी, चार्जर और चार्जर को मिलने वाली धारा की सही गुणवत्ता के अनुसार है। इसलिए अगर इन तीनों में से किसी भी एक की गुणवत्ता में कमी होगी तो गणनात्मक मान और व्यवहारिक या प्रायोगिक मान में भिन्नता अवश्य होगी।  मोबाइल की बैटरी इतने मिनटों में फुल चार्ज होगी        अगर आप अपने किसी भी मोबाइल की बैटरी की यह जानकारी जानना चाहते हैं कि यह कितने मिनटों में फुल चार्ज हो जायेगी तो आप आसानी से पता कर स

What is the reason for slow fan speed | celling fan speed problem

   पंखा धीमी गति से क्यों चलता है ?      गर्मी का मौसम दश्तक दे चुका है लोग गर्मी से राहत पाने के लिए तरह-तरह के इलेक्ट्रिक पंखों का इस्तेमाल करते हैं। मगर जब यही पंखा कम गति से चलने लगे तो हवा बहुत कम मात्रा में मिलती है जिससे गर्मी में राहत नहीं मिल पाती है। पंखा कोई भी हो लेकिन सबमें धीमा चलने की समस्या आ सकती है।      क्या आप जानते हैं कि छत वाले या फर्राटा पंखें कि स्पीड क्यों कम या धीमी पड़ जाती है।इस आर्टिकल में हम, पंखा किन - किन कारणों से धीमा चलता है उसके बारे में पुरी जानकारी देगें । नोट : कृपया पुरा आर्टिकल पढें तभी पुरी जानकारी मिल सकती है, क्योंकि अधूरा ज्ञान करता है नुकसान। पंखें के धीमा चलने के निम्नलिखित कारण है - प  कारण नं० 1   ➡   कैपासिटर (Capacitor = संधारित्र)      पंखें का धीमी गति से चलने में कैपासिटर के खराब होने की संभावना सबसे ज्यादा होती है। अगर कैपासिटर खराब है तो उसकी जगह पे नया कैपासिटर लगाकर यह समस्या दूर की जा सकती है। अगर नया कैपासिटर लगाने के बाद भी पंखा लगभग उतनी ही तेजी से चल रहा है तो तीन बातें संभव हैं - पंखे की वाइंडिंग में समस्या  बैर

Ukren me kaise success hua mission Ganga

    Ukren में कैसे सफल हुआ मिशन गंगा      आज पुरी दुनियाँ रुस-यूक्रेन   युद्ध की तरफ देख रही है। इन दोनों देशों के बीच घमासान युद्ध हो रहा है ऐसे में जो बाहरी लोग यूक्रेन में हैं वह अपनी जान बचाने के लिए अपने-अपने वतन ( देश ) जाना चाहते हैं। ऐसे में बहुत बड़ी बात होती है कि जब दो देशों के बीच युद्ध हो रहा है तो तिसरे देश जैसे भारत और पाकिस्तान के लोगों को वहाँ से निकालना बहुत मुश्किल हो सकता था पर भारत सरकार की कोशिशों और कुशलता का सबसे बड़ा प्रमाण है मिशन गंगा    ।   भारत सरकार या मोदी सरकार अपने देश के नागरिकों की सुरक्षा के प्रति सतर्क है और यही वजह है कि इनकी सरकार ने युद्ध शुरू होते ही अपने देश के लोगों को निकलवाने का मिशन शुरू कर दिया है जिसे   मिशन गंगा    नाम दिया गया। ` मिशन गंगा' को सफल निम्नलिखित तरिकों से बनाया गया -  प्रधानमंत्री मोदी की पुतिन से बातचीत ।  आपरेशन गंगा के लिए मंत्रियों को कई देशों में भेजा।  रुस ने भारतीयों को निकालने के लिए समय दिया।  मिशन का असर 20 हजार से ज्यादा भारतीयों की वतन वापसी।  रूस ने भारतीयों के लिए 130 बसों का रेला लगाया।  बेलगोरोद (यूक

8 ÷ 2( 2+ 2)= 1 or 16

8 ÷ 2 (2 + 2) = ?       क्या आप 8 ÷ 2(2 + 2) का सही उत्तर जानना चाहते हैं तो आपको इस आर्टिकल में प्रूफ(साबूत) के साथ इसका हल मिलेगा।दरअसल यह या ऐसा सवाल दो प्रकार के नियमों के चलते कन्फ्यूजन बना देते हैं कि और होना भी जरूरी है क्योंकि इस सवाल के दो उत्तर आ रहे हैं। एक उत्तर   1  और दूसरा   16  है। PEMDAS  द्वारा 1और BODMAS  द्वारा 16 है। लेकिन यहाँ पर हम इन दोनों नियमों के बिना ही इसको हल या सरल करेगें। इन दोनों उत्तरों को भी जानेंगे कि कब 1 और कब 16 आयेगा। उदाहरण भी ऐसा होगा जो यह पुरी तरह से स्पष्ट कर दे कि कौन-सा उत्तर सही है और कौन-सा गलत है।   इसके लिए आपको इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना होगा। चलिए आगे पढ़ते हैं >>>   8÷2(2+2) का हल          इसको हल करने के तरीके >>      पहला तरिका  |   8 ÷ 2 ( 2 + 2) = 8/2( 2 + 2 )                         = 8/2×4 = 8/8                         = 1     Ans.     दूसरा तरिका  |   8 ÷ 2 ( 2 + 2) = 8 ÷ 2 × 4 = 4 ÷ 1 × 4                        = 4/4 = 1   |  तिसरा तरिका  |     तिसरे तरिके में हमने भाग को गुणा में परिवर्तित किया है। चू

Everything is possible solution in mathematics गणित के द्वारा समझिए कैसे सबकुछ संभव है

हर परिस्थिति में हर काम संभव है | Everything is possible in any situation.  आज हम इस आर्टिकल में गणित के आधार पर यह जानेंगे कि क्या - क्या संभव है और कैसे जब हमें लगे कि हम अब कैसे क्या करें यानी जब हमें यह लगे या सारी दुनियाँ कहने लगे कि अब कोई उपाय या रास्ता नहीं है तब भी अनेकों रास्ते होते हैं हमारे पास जिसमें से हमारे लिए कुछ रास्ते ऐसे होते हैं जो हमें उस परिस्थिति से निकाल सकते हैं । याद रखीए ( Remember ) : चाहे कोई भी परिस्थिति ही क्यों ना हो या एकदम यह लगे कि अब कोई उम्मीद नहीं है तब भी कुछ न कुछ संभव परिस्थितियों होती हैं जो उम्मीद बन सकती है चाहे हमारे देखने में निरर्थक ही क्यों ना लगे ।   दरअसल ये बातें हमें इसलिए पहले जान लेना चाहिए क्योंकि पहले से हम इन सबके बारें में जानेंगे तो हमें कोई भी काम करने में आसानी होगी।  हम जानते हैं कि गणित को विज्ञान की जननी यानी माता कहा जाता है। दरअसल गणित को विज्ञान की जननी इसलिए कहा जाता है क्योंकि गणित की सहायता से हम विज्ञान ही नहीं बल्कि लगभग हर प्रकार के कार्य को आसान बना सकते हैं और इसीलिए गणित सभी विषयों में सबसे महत्वपूर्ण स्थान

शेष परिधि पर बना कोण केन्द्र पर बने कोण का आधा क्यों होता है ? ( Why is the angle at the rest of the circumference half of the angle at the centre?)

क्या आपको पता है कि शेष परिधि पर बना कोण केन्द्र पर बने कोण का आधा क्यों होता है ? हम इस पोस्ट में इसी के बारे में बहुत ही अच्छी तरह से समझने की कोशिश करने वाले हैं। हमने पुरा प्रयास किया है की आसानी से समझ में आ जाए।दरअसल बात यह है कि जबतक गणित को बारिकी से न नमझा जाय तो यह बहुत ही कठीन विषय लगने लगता है। इसीलिए हमने इस प्रश्न को एकदम सरल उदाहरणों से समझाने की कोशिश की है। आइए आगे पढ़ते हैं >>     जैसा कि हम ऊपर दिए गए चित्र में देख रहे हैं कि AB चाप द्वारा केन्द्र O पर 2x° कोण बनाया गया है और इसी चाप के द्वारा परिधि के एक बिन्दु P पर x° का कोण बन रहा है जो कि केन्द्र ओ पर बने कोण का आधा है। ऐसा नहीं है कि यह सिर्फ  किसी निश्चित बिन्दुओं पर होता बल्कि चाप AB के बिच छोड़कर कहीं भी किसी भी बिन्दु पर कोण बनायेंगे तो हर बार AB  चाप द्वारा शेष परिधि पर बना कोण केन्द्र पर बने कोण का आधा ही होगा। कैसे?, क्यों?  इन्ही सभी सवालों का जवाब हम एकदम सरल शब्दों में जानने की कोशिश करेगें। आइए आगे पढ़ते हैं >> शेष परिधि पर बना कोण केन्द्र पर बने कोण का आधा इसलिए होता है          हम ज

माँ को भगवान से भी ऊँचा स्थान क्यों दिया गया है ? Why is mother given a higher position than God?

माँ [ Mother]   क्या हम जानते हैं कि माँ - बाप को भगवान से भी ऊँचा स्थान क्यों दिया गया है ? अगर आप जानते हैं तो यकीन मानीय आप बहुत कुछ पा सकते हैं जो बहुत लोग सोच भी नहीं सकते हैं। दूसरी बात, क्या हम जानते हैं कि माँ का नाम बाप से पहले क्यों आता है ?  चलिए जानते हैं।  दरअसल माँ ही वह देवी है जो -  अपने बच्चे को नौ महीने तक कोख में पालती है।  बच्चे को जन्म देते समय अपार दु:ख को सहती है।  अपने बच्चे को ही अपनी दूनियाँ मानती है।  एक आदर्श माँ अपने बच्चों के लिए अपना सबकुछ कुर्बान करने को हमेशा तैयार रहती है।  अपने बच्चों में भेदभाव नहीं रखती है यानी सभी को बराबर मानती है।  जब सारी दूनियाँ हमारे खिलाफ जहर ऊगलती है तब भी माँ ही अपने ममता को बरसाती रहती है।  दूनियाँ में अगर सबसे ज्यादा आपकी चिंता कोई करता है तो वह माँ है।  माँ के प्यार को आँका नहीं जा सकता है क्योंकि इसकी कोई हद नहीं है।  बच्चों को थोड़ा सा कष्ट हो जाए तो माँ के आँसू छलक जाते हैं।  जब पिता फटकारते हैं तो बच्चों को माँ का आँचल ही सम्हालता है।  नोट : यह आर्टिकल सिर्फ माँ की महानता पर बेस्ड है पर इसका मतलब यह भी नहीं है कि
Disclaimer | Privacy Policy | About | Contact | Sitemap | Back To Top ↑
© 2017-2021 Possibilityplus