Possibilityplus

संभावनाओं का सागर

15 Jan 2019

परिक्षा में यह.. गलती मत करना । by : Possibilityplus.in




किसी भी परिक्षा में यह गलती मत करना. 


क्या आपने कभी सोचा है कि बहुत अच्छे खासे पढ़ने वाले छात्रों को भी परिक्षाओं में ज्यादा अंक क्यों नहीं मिलता है। चलिए हम जानते हैं इसके बारे में। चूँकि परिक्षा का समय आ रहा है तो आप सभी के लिए यह बातें जानना बहुत ही जरूरी है ।


आज इस पोस्ट के द्वारा हम परिक्षाओं में ज्यादा अंक कैसे प्राप्त करें । इसके लिए बहुत ही जरूरी जानकारी जानेंगे। परिक्षा में ज्यादा प्राप्तांक  ( Mark )
पाना  हर किसी के लिए आसान नहीं होता है। कुछ छात्र - छात्राओं को ज्यादा पढ़ने के बाद भी ज्यादा अंक नहीं मिल पाता है ।  इसके कई कारण हो सकते हैं जैसे :

  •  पढाई अच्छी तरह से ना कर पाना। 
  • बिना किसी टाइमिंग और गोल के पढा़ई करना। 
  • रटने वाली पढा़ई ज्यादा और समझने वाली कम करना ।
  • परिक्षा देते समय सबसे पहले बड़े प्रश्नों को हल करने की कोशिश करना,  इत्यादि । 

उपर दी गई बातों को करने से बचें और सही तरीके से से पढ़ाई करें । इसके लिए निचे दिए गए शब्दों को जरूर पढ़ें।


अगर आपने पढ़ाई अच्छे ढ़ंग से किया है तो परिक्षाओं में ज्यादा नम्बर पाने के लिए निम्नलिखित बातें जरूरी है -
  1. सबसे पहले परिक्षा हाल में अपने दिलो - दिमाग को शान्त करें।
  2. सबसे पहले छोटे प्रश्नों के उत्तर देने की कोशिश करें।
  3. जो प्रश्न सबसे सरल हो उसे ही सबसे पहले करना चाहिए  ।
  4. जब कुछ भी समझ ना आये तो कम से कम एक मिनट तक गहरी साँस लें और कुछ भी ना सोचे।
  5. इसके बाद फिर से प्रश्नों का हल करने का प्रयास करना चाहिए। 
  6. परिक्षा देते समय पानी पीना बहुत ही अच्छा होता है। 
  7. बीच - बीच में अपने आप को तरोताज़ा कर लेना चाहिए। 





इस प्रकार परिक्षा में ज्यादा प्राप्तांक प्राप्त किया जा सकता है। चलिए अब हम जानते हैं कि क्यों और कैसे हम ऊपर दिए गए बातों पर भरोसा करें ? तो आपको बता दें कि इस साइट possibilityplus.in पर हम यही कोशिश करते हैं कि आपको जो भी जानकारी मिले वह आपको समझ में आ जाये और तभी आप उस जानकारी को उपयोग में ला सकें। दरअसल एक सर्वे किया गया जिसमें बहुत से छात्र - छात्राओं को शामिल किया गया । इनके दो ग्रुप और B बनाये गये  । इसमें A ग्रुप को यह कहा गया कि तुम लोग परिक्षा देते समय बिच - बिच में पानी पीना, तरोताज़ा होना और लगभग हर 45 मिनट बाद कम से कम 1 मिनट तक सभी चीजों को भूलकर आराम कर लेना । दूसरी तरफ ग्रुप को कुछ भी नहीं कहा गया। जबकि दोनों ग्रुप में शामिल होने वाले छात्रों की योग्यता लगभग समान थी । परिक्षा परिणाम को देखा गया तो यह मिला कि ग्रुप A के छात्रों का प्राप्तांक , ग्रुप B के छात्रों से ज्यादा अच्छा था। 
आखिर ऐसा क्यों चलिए समझते हैं वैज्ञानिक निष्कर्ष  द्वारा। 




  वैज्ञानिक निष्कर्ष   


परिक्षा देते समय जब हमें थोड़ी थकावट महसूस होती है और अगर हम उस दौरान पानी का सेवन करते हैं तो हमारा मन शांत होने लगता है और आराम महसूस होने लगता है। यह बात तो हम सभी जानते हैं कि जब हमारा मन और मस्तिष्क शान्त हो तब हम कोई भी सवाल आसानी से समझ सकते हैं। अब दूसरी बात जब हम परिक्षा देते हैं तो हमें अगर कुछ भी नहीं समझ में आ रहा है तो हमें कुछ सेकंड या मिनटों तक आराम कर लेना चाहिए। इससे जो बेकार की बातें हमारे दिलो - दिमाग में होती हैं वह बहुत हद कम हो जाती हैं और परिणामस्वरूप हमें प्रश्नों को समझने में आसानी होने लगती है। यहाँ पर यह ध्यान देने वाली बात है कि यह बातें सीर्फ परिक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए ही नहीं है बल्कि हर काम में इनका उपयोग किया जा सकता है और किया जाता भी है।

अगर आप खूद यह निष्कर्ष या अन्तर देखना चाहते हैं तो आप कोई भी प्रश्न लेकर उसे पहले टेंशन के साथ हल करें और उसी प्रश्न को आनन्द ( enjoy ) के साथ हल करके देखें आपको बहुत ही अन्तर देखने को मिल जायेगा । अगर कुछ भी समझ में ना आये तो यह सोचते हुए कुछ मिनटों तक सब कुछ भूलकर फ्री हो जायें । अब आराम करने के बाद फिर से सभी प्रश्नों को एक - एक करके दोबारा जांच ( चेक ) करके देखें। ऐसा करने पर कोई ना कोई प्रश्न जरूर समझ में आ जायेगा।


हमें उम्मीद है कि आप सभी को इससे जरूर मदत मिलेगी। आपको यह पोस्ट कैसा लगा इसके बारे में हमें कमेन्ट करके जरूर बताएँ ताकि हम और भी अच्छा कर सके आपके लिए।
  Thanks for reading.... 



No comments:

Post a Comment

you may like this