केले का पेड़ पानी में क्यों नहीं डूबता ?




www.possibilityplus.in पर आप सभी का स्वागत है। इस आर्टिकल में हम केले के पेड़ का पानी में ना डूबने के कारण को जानेंगे।

    केले का पेड़ पानी में क्यों नहीं डूबता ? यह प्रश्न वैज्ञानिक, तार्किक,  उपयोगी और मजेदार भी है। इसके ना डूूबने की वजह है इसके अन्दर मौजूद पानी की मात्रा। जी हाँ पानी की मात्रा ही वह असल वजह है जो इसे पानी या जल के अंदर डूबने से बचाता है।
        यह उत्तर मोटे तौर पर पर जो यह तो बता रहा है कि किसके कारण ऐसा होता है, मगर हमें बात हजम नहीं हो रही है अथवा पुरी तरह से समझ में नहीं आया है। चलिए सरल और वैज्ञानिक तरीके से समझते हैं।



    स्पष्टीकरण :  पानी  में कोई वस्तु डूबेगी या नहीं यह दो ✌️ बातों पर निर्भर करता है -

पहली बात : वस्तु का घनत्व। 
दूसरी बात : वस्तु की आकृति 


पहली बात के अनुसार 


      पहली स्थिति के अनुसार यदि जिस भी वस्तु का घनत्व पानी के घनत्व से अधिक होगा वह वस्तु पानी में अंदर चली जायेगी अथवा डूब जायेगी। 

इसके विपरीत अगर वस्तु का घनत्व कम हो तो वस्तु पानी में नहीं डूबेेगी ( थोड़ा - बहुत हिस्सा ही जल के अंदर रहेगा ) बल्कि पानी के ऊपर तैरेगी। 


और अगर वस्तु का घनत्व पानी के घनत्व  के बराबर हो तब वस्तु पानी में डूबती हुई तैरेगी। 
       चुंँकि केले के पेड़ में लगभग 88 % तक पानी / जल ( water 💦 ) होता है । इसके अलावा एक द्रव ( लगभग 10% ) होता है जो पानी से भी हल्का होता है।  इसलिए केला हल्का - सा  डूबतेे हुए तैरता है जल / पानी में। 





दूसरी बात के अनुसार



       यदि अधिक घनत्व वाली वस्तु को विशेष आकृति में बनाया जाये तो यह पानी में नहीं डूबेगी। जैसे जब वस्तु को अधिक से अधिक क्षेत्रफल में फैला दिया जाता है तो वस्तु द्वारा पानी पर लगाया बल पानी के  उत्पेक्ष बल ( ऊपर की ओर लगने वाला बल ) से कम हो जाता है और वस्तु पानी से अधिक घनत्व होने के बाद भी पानी में नहीं डूबती है। 

     


  आपको क्या लगता है, अपनी बात कमेंट बॉक्स में लिखकर जरुर शेयर करें। धन्यवाद......


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ